क्रिसमस पर निबंध – Christmas Essay in Hindi


हमारे इस पोस्ट में क्रिसमस पर निबंध, Christmas Essay in Hindi, Christmas in Hindi, Merry Christmas in Hindi,

और क्रिसमस ट्री आपको यह पढ़ने के लिए मिल जाएगा।

 

हर साल 25 दिसंबर को क्रिसमस मनाया जाता है। इसी दिन प्रभु ईसा मसीह का जन्म हुआ था।

 

क्रिसमस के महत्व को देखते हुए, इस दिन को ईसा मसीह के जन्म के लिए ईसाई धर्म में एक बड़ा दिन माना जाता है।

 

क्रिसमस पर निबंध – Christmas Essay in Hindi

 

Christmas Essay in Hindi

Image Credit: Pixabay

 

क्रिसमस पूरी दुनिया में बहुत ही हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है,

क्योंकि उस दिन, प्रभु यीशु मसीह, निर्माता भगवान, एक इंसान के रूप में इस दुनिया में पैदा हुए थे।

 

प्रभु हमारे उद्धार के लिए मानव बन गए, इसलिए प्रभु यीशु मसीह का जन्म बहुत श्रद्धा और भक्ति के साथ मनाया जाता है।

 

क्रिसमस के बारे में भक्तों, विशेषकर युवाओं और बच्चों में विशेष आकर्षण है। जैसे-जैसे समारोह करीब आता है, क्रिसमस का माहौल बनता है।

 

लोग खरीदारी के लिए आते ही बाजार विशेष रूप से गुलजार हो जाते हैं।

 

क्रिसमस को बहुत उत्साह के साथ मनाया जाता है, मिठाइयाँ बनाकर और उपहारों का आदान-प्रदान करके। हर तरफ खुशी और उत्साह का माहौल होता है।

 

सबसे पहले यह एक धार्मिक समारोह है। इस दिन प्रभु ईसा मसीह का जन्मदिन मनाया जाता है |

 

और इस दिन को आध्यात्मिक दृष्टिकोण से भक्ति के साथ मनाने की विशेष तैयारी की आवश्यकता होती है।

 

क्रिसमस की तैयारी चार हफ्तों पहले से ही चालू होती है। और क्रिसमस का काळ जनवरी के दूसरे सप्ताह तक चलता है।

 

इस दौरान लोग अपने घर में एक Christmas Crib का निर्माण करते हैं।

और अपने घर के चारों ओर रंगीन रोशनी डालते हैं। कुछ लोग क्रिसमस ट्री भी बनाते हैं।

 

और उस पर रोशनी डालते हैं। इस दौरान पूरे इलाके में एक खूबसूरत माहौल बन जाता है।

 

क्रिसमस के दिन, लोग अपने दोस्तों और परिवार को Happy Christmas और Merry Christmas की शुभकामनाएं देते हैं।

 

क्रिसमस का इतिहास – क्रिसमस समारोह की उत्पत्ति

 

Christmas को प्रभु यीशु मसीह के जन्मदिन के रूप में मनाया जाता है, लेकिन ‘क्रिसमस’ शब्द का अर्थ ‘जन्मदिन’ नहीं है |

 

बल्कि जन्मदिन के लिए ‘नाताळ’ का उपयोग किया जाता है। नाताळ शब्द लैटिन शब्द ‘नटालिस’ (Natalis) से आया है, जिसका अर्थ है जन्मदिन |

 

नाताळ‘ शब्द भी इस उत्सव के लिए लोकप्रिय है, लेकिन ‘क्रिसमस’ शब्द इससे कहीं अधिक प्रसिद्ध है।

 

क्रिसमस शब्द ग्यारहवीं शताब्दी के आसपास का है। उससे पहले, लैटिन शब्द नेटीवीतास (Nativitas) का उपयोग समारोहों के लिए किया जाता था।

 

तो क्रिसमस क्या है और इस शब्द का इस्तेमाल कैसे हुआ?

 

ग्यारहवीं शताब्दी में, ईसाई मण्डली ने आधी रात के (Mass) मास को प्रभु यीशु मसीह के जन्म की स्मृति में मनाने की अनुमति दी |

 

क्योंकि यह माना जाता था कि (Jesus) क्राइस्ट का जन्म रात 12.00 बजे हुआ था।

 

ईसाई पूजा में, केवल इस मास को आधी रात को चढ़ाने की अनुमति थी, इसलिए इस (Mass) मास का विशेष महत्व था।

 

FAQ – Christmas Essay in Hindi

 

1. क्रिसमस क्यों मनाया जाता है?

२५ दिसम्बर को येशु मसीहा का जन्म हुआ था। इसके लिए उस दिन को क्रिसमस बोलते है और क्रिसमस मनाया जाता है।

2. क्रिसमस ट्री का क्या महत्व है?

क्रिसमस ट्री इसके लिए बनाई जाती है क्यों की २५ दिसम्बर को येशु मसीहा का जन्म हुआ।

और उसकी ख़ुशी में बच्चे और पूरा परिवार ख़ुशी से खेले।

3. आज क्रिसमस डे है क्या?

क्रिसमस डे सिर्फ २५ दिसम्बर को मनाया जाता है।

लेकिन क्रिसमस काळ दिसंबर से लेकर जनुअरी तक चालू होता है।

4. मैरी क्रिसमस का मतलब क्या होता है?

मैरी क्रिसमस, हैप्पी क्रिसमस एक दूसरे से Wish करने के लिए शब्द Use करते है।

 

क्रिसमस का महत्व, क्रिसमस डे पर 10 लाइनें, हैप्पी क्रिसमस डे, Merry Christmas के मैसेज,

या फिर Christmas Essay in Hindi यह सब जानकारी आपको इस पोस्ट में पढ़ने मिली होगी।

 

आप अगर Christmas Essay in Hindi में कुछ भी और जानकारी चाहते हो तो आप हमें कमेंट कर के बता सकते है।

 

होप आपको क्रिसमस डे जानकारी पसंद आई रहेगी।

 

 Images of Christmas in Hindi

 

 Christmas in Hindi

 

 

 Christmas in Hindi

 

इसे भी पढ़े :

चीन देश के बारे में जानकारी

भारत देश के बारेंमे जानकारी

भारत के बारें में कुछ रोचक तथ्य 

गेटवे ऑफ इंडिया

पाकिस्तान देश के बारे में जानकारी


Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *