इंडिया गेट, इतिहास, रोचक तथ्य – Information about India Gate in Hindi


दिल्ली इंडिया गेट को पहले अखिल भारतीय युद्ध स्मारक (All India War Memorial) के नाम से जाना जाता था |

 

इसका निर्माण ब्रिटिश सरकार द्वारा प्रथम विश्व युद्ध और तीसरे एंगलो अफगान (Anglo Afghan) युद्ध में शहीद हुए 80,000 से भी अधिक भारतीय सैनिकों को श्रद्धांजलि देने के लिए बनाया गया था |

 

इंडिया गेट, इतिहास, रोचक तथ्य

Image Credit: Pixabay

 

इंडिया गेट, इतिहास और रोचक तथ्य – Information about India Gate in Hindi

 

 

इंडिया गेट नई दिल्ली के सबसे सुन्दर शहर राजपथ में स्थित है | प्राचीन समय में राजपथ को किंग्सवे (King’s Way) भी कहा जाता था |

 

India Gate जहां पर हर रोज हजारों की संख्या में लोग घूमने आते हैं |

 

और अगर कोई भारत की राजधानी यानी कि दिल्ली राज्य के बाहर से भी यहां पर घूमने आता है|

 

तो फिर शायद वह इंडिया गेट को देखे बिना लौटता होगा | ऐसे ही हमारे India Gate की और जानकारी प्राप्त करते है |

 

इंडिया गेट का इतिहास – History of India Gate in Hindi

 

हमारा देश भारत आज भी पूरी दुनिया में अपनी संस्कृति और इतिहास के लिए जाना जाता है | हमारे देश के अंदर कुछ ऐसी ऐतिहासिक इमारतें भी मौजूद हैं |

 

जो कि लोगों को हमेशा ही अपनी तरफ आकर्षित करती हैं | और कुछ इसी तरह से ही है दिल्ली राजपथ मार्ग पर स्थित इंडिया गेट का इतिहास |

 

Delhi India Gate की आधारशिला 10 फरवरी 1921 को शाम 4:30 बजे एक समारोह के दौरान भारतीय सेना के सदस्यों और इंपीरियल सर्विस सॉक्स के सदस्यों के साथ रखी गई थी |

 

यह प्रोजेक्ट 10 साल में पूरा हुआ | और 12 फरवरी 1931 को वायसराय लॉर्ड इरविन ने Delhi India Gate का उद्घाटन किया था |

 

साल 1920 तक पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन पूरे शहर का एकमात्र रेलवे स्टेशन हुआ करता था |

 

उस समय आगरा दिल्ली रेलवे लाइन वर्तमान इंडिया गेट के निर्माण स्थल से होकर गुजरती थी |

 

बाद में इस रेलवे लाइन को यमुना नदी के पास स्थानांतरित कर दिया गया था |

 

जब 1924 में  शुरू हुआ तभी स्मारक स्थल का निर्माण कार्य शुरू हो सका था |

 

इंडिया गेट के रोचक तथ्य – Facts about India Gate in Hindi

 

  1. भारत के स्मारक में से एक दिल्ली के राजपथ में स्थित इंडिया गेट को पहले All India War Memorial के नाम से जाना जाता था |
  2. इंडिया गेट को 1921 में Duke of connaught (ड्यूक ऑफ कनॉट) ने बनवाना चालू किया था |
  3. इसको बनवाने में पूरे 10 साल लगे | और यह 1931 में बनकर तयार हुआ |
  4. India Gate को Architecture Edwin Lutyens  ने Design किया था |
  5. India Gate की ऊँचाई 42 मीटर है और इसमें भारतीय सैनिकों का नाम लिखे हुए है जिन्होंने Anglo Afghan और World War One में अपनी जान दी |
  6. 1947 में भारत की आजादी के बाद इस वॉर मेमोरियल को इंडियन आर्मी स्टॉर्म में कन्वर्ट किया गया |
  7. और इसको भारत के शहीद सिपाहियों को डेडीकेट किया गया |
  8. India Gate फेमस है, भारत के Republic Day परेड के लिए भी |
  9. भारत का Republic Day का परेड राष्ट्रपति भवन से शुरू होकर इंडिया गेट से होकर गुजरता है |
  10. इंडिया गेट दिल्ली की मुख्य सड़कों से जुड़ा हुआ है |
  11. India Gate में भारत के तीनों फौज यानी वायु सेना, जल सेना और थल सेना बारी-बारी से गश्त लगाते हैं |
  12. और इंडिया गेट में भारत के तीनों सेनाओं का झंडा लगा हुआ है |
  13. India Gate भारत का सबसे बड़ा वॉर मेमोरियल है | और हर साल लाखों की तादाद में लोग इसको देखने आते हैं |
  14. India Gate एक पैट्रियोटिक अट्रैक्शन के साथ-साथ एक पिकनिक स्पॉट भी है |
  15. क्योंकि इसके आस-पास बहुत सारे Park और Gardens हैं |
  16. इस दर्शनीय स्मारक का निर्माण करने में मुख्य रूप से लाल और पीले पत्थरों का उपयोग किया गया था | जिन्हे  खासतौर पर भरतपुर से लाया गया था |
  17. India Gate बनकर तैयार हुआ था तब उसके  सामने जॉर्ज पंचम की मूर्ति लगी हुई थी |
  18. जिसे बाद में अंग्रेजी राजकीय अन्य मूर्तियों के साथ Coronation Park Delhi स्थापित कर दिया गया |
  19. India Gate पर शहीद हुए 13,300 सैनिकों के नाम लिखे हुए है |

 

FQA related to India Gate

 

1. इंडिया गेट क्यों बनाया गया था?

इंडिया गेट ब्रिटिश सरकार द्वारा प्रथम विश्व युद्ध और तीसरे एंगलो अफगान युद्ध में शहीद हुए भारतीय सैनिकों को श्रद्धांजलि देने के लिए बनाया गया था |

2. इंडिया गेट पर कितने शहीदों के नाम लिखे हैं?

इंडिया गेट पर कुल मिलकर 13300 शहीद सैनिकों के नाम लिखे है |

3. India Gate कब और किसने बनाया?

इंडिया गेट को ब्रिटिश सरकार ने 12 फरवरी 1931 बनाया था।

4. इंडिया गेट क्यों प्रसिद्ध है?

इंडिया गेट अपने संस्कृति के लिए प्रसिद्ध है।

 

अमर जवान ज्योति

 

India Gate में अमर जवान ज्योति भी है | जिसकी स्थापना 1972 में इंदिरा गांधी ने Republic Day के दौरान किया था 1971 के शहीदों की याद में |

 

अमर जवान ज्योति 24 घंटे सातों दिन बिना बुझे जलती रहती है हमारे शहीदों के सम्मान में |

 

अमर जवान ज्योति एक ब्लैक कलर के मार्बल के साइन के ऊपर बना हुआ है | जिसके ऊपर एक राइफल रखा हुआ है |

 

और राइफल के ऊपर एक सोल्जर का हेलमेट रखा हुआ है |

 

जो कि हर एक भारतवासी जो वहां पर जाता है उसको यह अहसास कराता है कि हमारे जवानों ने अपनी जान की परवाह ना करते हुए हमारे लिए शहीद हुए हैं |

 

अमर जवान ज्योति का भारत में बहुत ज्यादा महत्व है |

 

कोई भी Ceremony, कोई भी Festival या फिर कोई भी National Event होने से पहले Prime Minister को अमर जवान ज्योति में जाकर हमारे जवानों को श्रद्धांजलि देना जरुरी  है |

 

List of Names Written on India Gate

 

इंडिया गेट पर कुल मिलकर 13300 शहीद सैनिक ज्यों World War One और Anglo Afghan में शहीद सैनिकों के नाम लिखे है |

 

तो आइये जानते है कोनसे धर्म के कितने शहीद सैनिकों के नाम है |

 

मुसलमान – 61395

सिख़ – 8050

पिछड़े – 14480

दलित – 10777

सवर्ण – 598

संघी – 00

और बाकि अन्य जातीके लोगोंके नाम है |

 

इसे भी पढ़े :

भारत देश के बारेंमे जानकारी

भारत के बारें में कुछ रोचक तथ्य 

गेटवे ऑफ इंडिया

 

India Gate Images

 

 

1. इंडिया गेट, इतिहास और रोचक तथ्य – Information about India Gate in Hindi

 

इंडिया गेट, इतिहास, रोचक तथ्य

 

2. India Gate

इंडिया गेट इतिहास रोचक तथ्य

 

मेरे खयाल से आप को इंडिया गेट, इतिहास and रोचक तथ्य के बारेंमे सारी जानकारी मिली रहेगी।

 

अगर आपको Information about India Gate in Hindi और जानकारी चाहिए तो आप हमें कमेंट करके बता सकते है।

 

हम जल्दी ही जानकारी अपडेट करके आपसे Contact करेंगे।

 

आप का शुक्रिया समय देने के लिए |


Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *